Monday, March 12, 2018

mujhse pahli si mohabbat meri mahbub na mang by Poet Faiz Ahmed Faiz

Kapil Jain's Understanding & Translation of Nazm "mujhse pahli si mohabbat meri mahbub na mang by Poet Faiz Ahmed Faiz

___________________________

Original Nazm As

मुझ से पहली सी मोहब्बत मेरे महबूब न माँग

मैं ने समझा था कि तू है तो दरख़्शाँ है हयात

तेरा ग़म है तो ग़म-ए-दहर का झगड़ा क्या है

तेरी सूरत से है आलम में बहारों को सबात

तेरी आँखों के सिवा दुनिया में रक्खा क्या है

तू जो मिल जाए तो तक़दीर निगूँ हो जाए

यूँ न था मैं ने फ़क़त चाहा था यूँ हो जाए

और भी दुख हैं ज़माने में मोहब्बत के सिवा

राहतें और भी हैं वस्ल की राहत के सिवा
___

अन-गिनत सदियों के तारीक बहीमाना तिलिस्म

रेशम ओ अतलस ओ कमख़ाब में बुनवाए हुए

जा-ब-जा बिकते हुए कूचा-ओ-बाज़ार में जिस्म

ख़ाक में लुथड़े हुए ख़ून में नहलाए हुए

लौट जाती है उधर को भी नज़र क्या कीजे

अब भी दिलकश है तेरा हुस्न मगर क्या कीजे

और भी दुख हैं ज़माने में मोहब्बत के सिवा

राहतें और भी हैं वस्ल की राहत के सिवा

मुझ से पहली सी मोहब्बत मेरे महबूब न माँग

___________________________

Translation :

मुझ से पहली सी मोहब्बत मेरे महबूब न माँग

Oh my beloved , please don't ask the love same as of first era .
____________

मैं ने समझा था कि तू है तो दरख़्शाँ है हयात

दरख़्शाँ : shining, brilliant
हयात : life, existence

I have understood that if meraly with your existance there is illumination in my life.
____________

तेरा ग़म है तो ग़म-ए-दहर का झगड़ा क्या है

ग़म : grief , sorrow
ग़म-ए-दहर : sorrow of world

Any grief from your side , is more than sufficient to occupy my senses , any other sorrow of world becomes irrelevant.
____________

तेरी सूरत से है आलम में बहारों को सबात

सूरत : shape, face, manner
आलम : Universe, World , Situation
बहारों : Spring , beauty spread
सबात : Stability, durability

Your presence , your charm assures the durability of spring

Or

You are the synonyms of beauty all around.
____________

तेरी आँखों के सिवा दुनिया में रक्खा क्या है

What else is divine in this world except your beautiful eyes.
____________

तू जो मिल जाए तो तक़दीर निगूँ हो जाए

तक़दीर : divine decree, fate, destiny
निगूँ : downward

If you found you in my life , the destiny bow in my feet.

____________

यूँ न था मैं ने फ़क़त चाहा था यूँ हो जाए

फ़क़त : merely simply only

Merely not be as just I want to be this way.

____________

और भी दुख हैं ज़माने में मोहब्बत के सिवा

Numerous grief caused by other factors apart from caused by love.
____________

राहतें और भी हैं वस्ल की राहत के सिवा

वस्ल : meeting, union, मिलन

Other escape available apart from the relief of reunion.
____________

अन-गिनत सदियों के तारीक बहीमाना तिलिस्म

अन-गिनत : countless
सदियों : centuries
तारीक : history, dates
बहीमाना : dreadful, dangerous, ruthless
तिलिस्म : magic, spell, enchantment

Countless centuries of mystical ruthless history ( black or illogical mythical)

____________

रेशम ओ अतलस ओ कमख़ाब में बुनवाए हुए

रेशम : silk
अतलस : satin
कमख़ाब : muslin
बुनवाए : weaved

Please connect from the last line ie
अन-गिनत सदियों के तारीक बहीमाना तिलिस्म
With this current line
रेशम ओ अतलस ओ कमख़ाब में बुनवाए हुए

Dreaded history presented in very soothing form like draped in silk satin or very fine muslin to cover up its ruthless past.

A dictom : history always written by Victors.
____________

जा-ब-जा बिकते हुए कूचा-ओ-बाज़ार में जिस्म

जा-ब-जा : everywhere
बिकते : selling
कूचा : Streets, by Lane
बाज़ार : bazaar, market
जिस्म : body

Referring Red light District where women are forced to sell their body against their will to quiche the thirst of monsters as these demons control the market forces.

____________

ख़ाक में लुथड़े हुए ख़ून में नहलाए हुए

ख़ाक : dust ashes worthless
लुथड़े : raw flash
ख़ून : blood
नहलाए : bathed

Please connect from the last line ie
जा-ब-जा बिकते हुए कूचा-ओ-बाज़ार में जिस्म
ख़ाक में लुथड़े हुए ख़ून में नहलाए हुए

The pathetic condition ( both socially as well as economically ) of the marginal society specifically those times women forced to sell their flashy rotten bodies ( blood bathed) to the demonic characters

( these tearful but true descriptions of ground reality are Faiz's significant throughout )
____________

लौट जाती है उधर को भी नज़र क्या कीजे

Cant resist to have a glimpse again,
(even after these dreadful scenes)

____________

अब भी दिलकश है तेरा हुस्न मगर क्या कीजे

दिलकश : attractive, alluring, lovely
तेरा : your, yours
हुस्न : beauty, elegance

Even after all this pathetic conditions, your beauty is charming, but what to do? ( to get away from this living hell ).

____________

और भी दुख हैं ज़माने में मोहब्बत के सिवा

Numerous grief caused by other factors apart from caused by love.
____________

राहतें और भी हैं वस्ल की राहत के सिवा

वस्ल : meeting, union, मिलन

Other escape available apart from the relief of reunion.
____________

मुझ से पहली सी मोहब्बत मेरे महबूब न माँग

Oh my beloved , please don't ask the love same as of first era .
____________

Fundamental Source and Input from
www. Rekhta .org

(c) (p) (r) All rights reserved.

Kapil Jain
Kapilrishabh@gmail.com
Noida, Uttar Pradesh 201313, India
March 11, 2018

____________

No comments:

Post a Comment